South Indian Bank PO, Clerk Result 2019 || NTA IIFT MBA Result 2019 ||
HSSC Clerk Exam Date/ Admit Card 2019 || Delhi HC Judicial Service Admit Card 2019 || BSF Head Constable (RO/ RM) Admit Card 2019 ||
DMRC Recruitment 2020 || UPPSC BEO Recruitment 2020 || Air Force AFCAT 01/2020 Batch Online Form ||
Indian Army 10+2 TES 43 Recruitment 2020 || UPNHM Various Post Online Form 2019 || NTA UGC NET December Online Form 2019 ||

हिन्दी करेंट अफ़ेयर्स: 15 फरवरी 2019



भारत को मिली पहली सेमी हाईस्पीड ट्रेन वंदे भारत एक्सप्रेस

धानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 फरवरी 2019 को देश की सबसे तेज़ ट्रेन ‘वंदे भारत’ एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाकर नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से रवाना किया. इसमें रेल मंत्री पीयूष गोयल व रेलवे बोर्ड के सदस्य सफर कर रहे हैं.

ट्रेन 18 (Train 18) के नाम से मशहूर इस ट्रेन का बहुत बड़े स्तर पर उद्घाटन होना था लेकिन जम्मू कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी 2019 को सैनिकों पर हुए आतंकी हमले के मद्देनजर एक बहुत ही साधारण कार्यक्रम में मोदी ने ट्रेन को चलाने की घोषणा की. प्रधानमंत्री ने वंदे भारत एक्सप्रेस के लॉन्च मौके पर पुलवामा आतंकी हमले में शहीद सीआरपीएफ जवानों के लिए दो मिनट का मौन रख श्रद्धांजलि दी.

यूनिसेफ ने ‘बाल विवाह-2019 फैक्टशीट’ नामक रिपोर्ट जारी की

हाल ही में संयुक्त राष्ट्र बाल निधि (UNICEF) ने एक रिपोर्ट, ‘फैक्टशीट चाइल्ड मैरिजेज़ 2019’ जारी की है जिसके अंतर्गत कहा गया है कि भारत के कई क्षेत्रों में अब भी बाल विवाह हो रहा है. इसमें कहा गया है कि पिछले कुछ दशकों के दौरान भारत में बाल विवाह की दर में कमी आई है लेकिन बिहार, बंगाल और राजस्थान में यह प्रथा अब भी जारी है.

यूनिसेफ की रिपोर्ट के अनुसार, बिहार, बंगाल और राजस्थान में बाल विवाह की यह कुप्रथा आदिवासी समुदायों और अनुसूचित जातियों सहित कुछ विशेष जातियों के बीच प्रचलित है. यूनिसेफ के अनुसार, अन्य सभी राज्यों में बाल विवाह की दर में गिरावट लाए जाने की प्रवृत्ति दिखाई दे रही है किंतु कुछ ज़िलों में बाल विवाह का प्रचलन अब भी उच्च स्तर पर बना हुआ है.

हर महीने 3000 रु. पेंशन वाली प्रधानमंत्री श्रम योगी मान-धन योजना लागू, ऐसे करें रजिस्ट्रेशन

भारत में असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों, घरेलू कामगारों, सिर-पीठ पर बोझा ढोने वाले मजदूरों तथा सरकार की कल्याणकारी योजनाओं के कार्यकर्ताओं को 3000 रुपये प्रति माह की पेंशन सुनिश्चित करने वाली केंद्र सरकार की ‘प्रधानमंत्री श्रम योगी मान-धन’ योजना 15 फरवरी 2019 से औपचारिक रुप से लागू हो गई है.

केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्रालय ने बताया कि हाल में बजट में घोषित की गई इस योजना से असंगठित क्षेत्र के तकरीबन 42 करोड़ लोगों को लाभ होगा. इस योजना में वे सभी लोग शामिल हो सकते हैं जिनकी आय 15 हजार रुपए प्रति माह तक है और 18 से 40 वर्ष के आयु वर्ग में हैं. इस योजना के पात्र व्यक्ति नई पेंशन योजना (एनपीएस), कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ईएसआईसी) योजना या कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) के लाभ के अंतर्गत कवर नहीं किए जाने चाहिए और उसे आयकर दाता नहीं होना चाहिए.

भारत ने पुलवामा में आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान से मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा वापस लिया, जानिए क्या होगा इसका असर

भारत ने पुलवामा में सीआरपीएफ जवानों पर आत्मघाती आतंकी हमले के विरोध में पाकिस्तान के खिलाफ कड़ा एक्शन लेते हुए पाकिस्तान से मोस्ट फेवर्ड नेशन (एमएफएन) का दर्जा वापस लेने की घोषणा की है.

हमले के मद्देनजर 15 फरवरी 2019 को पीएम मोदी की अध्यक्षता में सुरक्षा पर कैबिनेट समिति (CCS) की बैठक हुई. बैठक में रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण, गृह मंत्री राजनाथ सिंह, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, तीनों सेनाध्यक्ष और सीआरपीएफ (CRPF) के डीजी ने भाग लिया. बैठक के बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि पाकिस्तान को कूटनीतिक तौर पर अलग-थलग किया जाएगा.

सुशील चंद्रा नये चुनाव आयुक्त नियुक्त किये गये

भारतीय राजस्व सेवा (आई आर एस) के पूर्व अधिकारी सुशील चंद्रा को चुनाव आयुक्त नियुक्त किया गया है. वे सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेशन (सीबीडीटी) प्रमुख पद पर भी थे, उन्हें 14 फरवरी 2019 को इस पद पर नियुक्त किया गया.

उनकी नियुक्ति को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मंजूरी प्रदान कर दी है. सीबीडीटी के चेयरमैन के तौर पर उनका कार्यकाल इस साल मई में खत्म हो रहा था. उनका कार्यकाल 2016 से दो बार बढ़ाया जा चुका है.

© Copyright 2018-2019 at https://sarkariresultts.in
For advertising in this website contact us support@sarkariresultts.in


Created By sarkariresultts.in