UPSC IAS / IFS Civil Services Pre Exam Result 2019 || RBI Junior Engineer JE Result 2019 ||
UPSC AC Admit Card 2019 || BSF Constable (Tradesman) Phase II Exam Date Announced || CGPSC Mains Exam Admit Card 2019 ||
RAC Scientist / Engineer Recruitment 2019 || West Bengal Police Sub Inspector Online Form 2019 || Bangalore Army Rally Soldier GD Online Form 2019 ||
Delhi University UG/PG Admission Form 2019 || JEE Advanced Admission Form 2019 || Bihar ITI Online Application Form 2019 ||

साप्ताहिक करेंट अफेयर्स घटनाक्रम: 13 मई से 18 मई 2019


भारतीय नौसेना ने MRSAM मिसाइल का सफल परीक्षण किया

भारतीय नौसेना द्वारा मध्‍यम दूरी की जमीन से हवा में मार करने वाली मिसाइल (MRSAM) का सफल परीक्षण किया गया है. रक्षा मंत्रालय द्वारा हाल ही में यह जानकारी सार्वजनिक की गई है. एमआरएसएएम के सफल परीक्षण से भारतीय नौसेना की युद्ध प्रतिरोधक क्षमता में महत्‍वपूर्ण बढ़ोतरी होगी.

भारतीय नौसेना के पोत ‘कोच्चि ’और ‘चेन्‍नई ’ ने पश्चिमी समुद्र तट पर यह परीक्षण किया गया. इस मिसाइल का परीक्षण भारतीय नौसेना, डीआरडीओ और इजरायल एयरोस्‍पेस इंडस्‍ट्रीज के द्वारा संयुक्त रूप से किया गया है. भारतीय नौसेना द्वारा किये गये परीक्षण के दौरान दो वॉर शिप की मिसाइलों को एक शिप से ऑपरेट किया गया.

विश्व दूरसंचार और सूचना समाज दिवस-2019

विश्‍व दूरसंचार और सूचना समाज दिवस अर्थात वर्ल्‍ड टेलीकम्‍युनिशेन एंड इन्‍फॉर्मेशन सोसाइटी डे प्रत्येक वर्ष 17 मई को मनाया जाता है. इसका उद्देश्य इंटरनेट और नई प्रौद्योगिकियों द्वारा समाज में आये सामाजिक परिवर्तनों से लोगों को परिचित कराना है. वर्ष 2019 का विषय है – मानकीकरण की खाई को पाटना (Bridging the standardization gap).

इस दिन लोगों के मूलभूत मानव अधिकारों के प्रति लोगों का ध्यान केन्द्रित करना तथा समाज के बेहतर विकास के लिए प्रस्तुत की गई सूचना को सार्वजनिक रूप से उपलब्ध कराना इसका उद्देश्य है. इसी के चलते वर्ष 1973 में मैलेगा-टोर्रीमोलिनोन्स में एक सम्मेलन में 17 मई को यह दिवस मनाये जाने की घोषणा की गई थी.

रक्षा मंत्रालय ने मिलिट्री नर्सिंग स्टाफ को एक्स-सर्विसमैन दर्जा देने हेतु मंजूरी दी

रक्षा मंत्रालय द्वारा चीफ ऑफ स्टाफ कमिटी की मीटिंग में चर्चा उपरांत तथा सैद्धांतिक सहमति के बाद मिलिट्री नर्सिंग स्टाफ (एमएनएस) को भी एक्स-सर्विसमैन का दर्जा दिए जाने को मंजूरी दी गई. रक्षा मंत्रालय का मानना है कि इसमें तकनीकी तौर पर एमएनएस अधिकारी एक्स-सर्विसमैन की दी गई परिभाषा में नहीं आते हैं, इसलिए सरकारी दस्तावेजों में इस परिभाषा का संशोधन किया जायेगा.

थल, जल और वायु सेना में अहम भूमिका निभाने वाली ‘फ्लोरेंस नाइटिंगेल्स’ अर्थात मिलिट्री नर्सिंग सर्विस (एमएनएस) की महिला अधिकारियों को जल्द ही दूसरे फौजियों की तरह एक्स सर्विसमैन का दर्जा प्राप्त होगा. इसके अतिरिक्त सेवानिवृत्त अधिकारियों के बच्चों को कॉलेज में दाखिले में भी सुविधा मिलेगी. 

समलैंगिक विवाह को मंजूरी देने वाला एशिया का पहला देश ताइवान बना

ताइवान की संसद ने हाल ही में समलैंगिक विवाह को कानूनी मान्यता देने वाले बिल को मंज़ूरी दे दी है. ताइवान ऐसा करने वाला पहला एशियाई देश बन गया है. विश्वभर के लाखों समलैंगिकों में ताइवान की संसद के फैसले से खुशी की माहौल है.

ताइवान की संसद में समलैंगिक विवाह को लेकर यह वोटिंग यहां की संवैधानिक कोर्ट के उस आदेश के दो साल बाद हुई है, जिसमें अदालत ने विवाह से संबंधित मौजूदा कानून को असंवैधानिक घोषित कर दिया था. यह कानून एक महिला और पुरुष के बीच शादी को ही वैधानिक मानता था.

आरोही पंडित अटलांटिक महासागर पार करने वाली विश्व की पहली महिला बनी

आरोही पंडित अटलांटिक महासागर के ऊपर लाइट स्पोर्ट एयरक्राफ्ट (एलएसए) में अकेली उड़ान भरने वाली विश्व की पहली महिला पायलट बन गई हैं. उन्होंने केवल सात महीने के प्रशिक्षण के बाद एलएसए से अटलांटिक महासागर के ऊपर अकेले ही उड़ान भरी.

उन्होंने 3000 किलोमीटर की दूरी तय कर अपने छोटे से एयरक्राफ्ट के साथ कनाडा के नुनावुट में इकालुइट हवाईअड्डे पर उतरीं. वह इस दौरान ग्रीनलैंड और आइसलैंड में भी रुकी थीं. इसके लिए आरोही पंडित ने सात महीने की कड़ी ट्रेनिंग ली थी.

नासा का पेलोड लेकर जाएगा चंद्रयान-2, जाने विस्तार से

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने 15 मई 2019 को कहा कि जुलाई में भेजे जाने वाले भारत के दूसरे चंद्र अभियान में 13 पेलोड होंगे और अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा का भी एक उपकरण होगा. इस अंतरिक्ष यान का वजन 3.8 टन है. इस यान में तीन मोड्यूल (विशिष्ट हिस्से) ऑर्बिटर, लैंडर (विक्रम) और रोवर (प्रज्ञान) हैं.

नासा इस मॉड्यूल के जरिए धरती और चांद की दूरी को नापने का कार्य करेगी. इसरो ने चंद्र मिशन के बारे में कहा कि 13 भारतीय पेलोड (ओर्बिटर पर आठ, लैंडर पर तीन और रोवर पर दो पेलोड तथा नासा का एक पैसिव एक्सपेरीमेंट (उपरकण) होगा.

150 फुट सिकुड़ गया है चांद: नासा अध्ययन

नैशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन (नासा) द्वारा किये गये हालिया अध्ययन के अनुसार चांद का आकार लगातार सिकुड़ रहा है. नासा के लूनर रीकॉनिसेंस ऑर्बिटर (LRO) द्वारा ली गईं 12,000 से अधिक तस्वीरों के विश्लेषण से यह जानकारी सामने आई है. इस अध्ययन में यह पाया गया है कि चंद्रमा का आकार विभिन्न कारणों से लगातार सिकुड़ रहा है.

लूनर रीकॉनिसेंस ऑर्बिटर द्वारा चंद्रमा की 3डी तस्वीरें ली गई हैं. इन तस्वीरों में चंद्रमा में हुए परिवर्तनों को देखा जा सकता है. वैज्ञानिकों ने इन तस्वीरों का वैज्ञानिक विश्लेषण किया तथा चंद्रमा की सतह पर हो रहे बदलावों का अध्ययन करके यह रिपोर्ट जारी की.

डीआरडीओ ने अभ्यास ड्रोन का सफल परीक्षण किया

रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) ने 13 मई 2019 को ओडिशा के चांदीपुर में ‘अभ्यास’ ड्रोन का सफल परीक्षण किया. परीक्षण के समय अभ्यास ड्रोन को विभिन्न राडार और इलेक्ट्रो ऑप्टिक सिस्टम द्वारा ट्रैक किया गया था और सही तरीके से नेविगेशन मोड में रखा गया था.

अभ्यास ड्रोन को एक ऑटोपायलट की मदद से स्वतंत्र उड़ान हेतु डिजाइन किया गया है. इसके नेविगेशन के लिए देश में ही विकसित माइक्रो-इलेक्ट्रोमेकैनिकल सिस्टम (एमईएमएस) आधारित नेविगेशन प्रणाली का उपयोग किया गया है.

गृह मंत्रालय ने इंफोसिस फाउंडेशन का पंजीकरण रद्द किया

गृह मंत्रालय ने 13 मई 2019 को गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) इंफोसिस फांउडेशन का पंजीकरण रद्द करने की घोषणा की है. इंफोसिस के खिलाफ नियमों के खिलाफ जाकर विदेशी चंदा प्राप्त करने का आरोप लगाया गया है. गृह मंत्रालय के अनुसार नियमों का कथित रूप से उल्लंघन किया गया है.

गृह मंत्रालय द्वारा इंफोसिस फाउंडेशन को वर्ष 2018 में कारण बताओ नोटिस जारी किया था. गृह मंत्रालय द्वारा कहा गया है कि संगठन ने विदेशी धन की प्राप्ति और व्यय का पिछले कुछ वर्षों से वार्षिक ब्योरा प्रस्तुत नहीं किया था. बार-बार पत्र जारी किए जाने पर भी यह कदम उठाना पड़ा है.

पाकिस्तान ने आईएमएफ के साथ समझौता राशि पर हस्ताक्षर किये

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आइएमएफ) पाकिस्तान को तीन साल में छह अरब डॉलर (करीब 42 हजार करोड़ रुपये) की सहायता देने जा रहा है. दोनों के बीच इस संबंध में 12 मई 2019 को एक समझौता हुआ है. पाकिस्तान फिलहाल आर्थिक संकट से जूझ रहा है.

आइएमएफ के अनुसार इस समझौते का मुख्य उद्देश्य घरेलू और बाहरी असंतुलन को कम करने के साथ ही विकास में रुकावट को दूर करना, पारदर्शिता को बढ़ाना और सामाजिक खचरें में वृद्धि करके मजबूत और अधिक समावेशी विकास हेतु पाकिस्तान को तैयार करना है.

© Copyright 2018-2019 at http://sarkariresultts.in
For advertising in this website contact us support@sarkariresultts.in


Created By sarkariresultts.in